शिक्षामित्रों को सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दी राहत, 72825 शिक्षकों की भर्ती पूरी करने के निर्देश

शिक्षामित्रों के समायोजन पर लगा रखी रोक को आज सुप्रीम कोर्ट ने फाइनल निर्णय न आने तक जारी रखा है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में इलाहाबाद हाईकोर्ट को निर्देशित किया कि हाई कोर्ट शिक्षामित्रों के मसले पर चली रही समस्त सुनवाइयों को दो महीने के अंदर समाप्त कर सुप्रीम कोर्ट को सूचित करें। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हाई कोर्ट इलाहाबाद के मुख्य न्यायाधीश स्वयं शिक्षामित्रों के मामले की सुनवाई करें यदि न कर सकें तो फिर किसी सक्षम बेंच को यह मामला दें।
सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस दीपक मिश्रा और जस्टिस यूयू ललित की खंडपीड ने कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट शिक्षामित्रों के मसले की सुनवाई दो महीने के अंदर पूरी करे। इस केस दौरान आज सुप्रीम कोर्ट में यूपी की शिक्षा सचिव डिपंल वर्मा और सचिव संजय मोहन मौजूद रहे.

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश की शिक्षा सचिव डिपंल वर्मा से कहा कि वह यह बताए कि प्रदेश में सहायक अध्यापकों की नियुक्ति किस प्रकार और कैसे की जाती है और क्या वहां टेट वेटेज दिया जाता है। अब सुप्रीम कोर्ट की अगली सुनवाई 2 नवंबर को होगी।

सुप्रीम कोर्ट ने प्रदेश सरकार को 72825 पदों की पूरी भर्ती जल्द से जल्द करके सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा जमा करने का आदेश दिया है।
Title:supreme court 72825 trainee teacher and shikshamitra case
Keyword: UPTET, TET, SHIKSHAMITRA, SUPREME COURT